50+ हंसाने वाली पहेलियां | Funny Paheliyan in Hindi with Answer

हम आज आपके लिए हंसाने वाली पहेलियाँ और उनके उत्तरों को लाए हैं। हमने फनी पहेलियों के उत्तरों को निचे दिया है, जो आपको जरुर पसंद आएंगे। हमेशा मजेदार और दिलचस्प पहेलियाँ होती हैं, जो हमें सोचने पर मजबूर करती हैं। Funny Paheliyan with Answer in Hindi में कुछ मजेदार और हँसमुख पहेलियाँ देखें। आप भी इन पहेलियों को अपने दोस्तों से पूछ सकते हैं या सोशल मीडिया पर शेयर कर सकते हैं।

Funny Paheliyan in Hindi with Answer

पहेली: एक गुलाब का फूल, कभी नहीं होता खिला, जब तक न तोड़ो बूढ़ा, फिर तुम नहीं मिला।

उत्तर: चुंबन


पहेली: दो दोस्त आम के दाने, एक करता मिठाई की बात, दूसरा खाता कड़वा नींद, बताओ क्या है वो बिना आम के जो आम को जानता भी नहीं।

उत्तर: किन्नू


पहेली: जिसके पास है वही नहीं दिखता, और जिसके पास नहीं है वही दिखता है, बताओ क्या है वो?

उत्तर: आंखें


पहेली: छोटी सी चीज़ हूँ, सब कुछ कर जाती हूँ, रंग नहीं बदलती, पर आकर्षित कर जाती हूँ।

उत्तर: मैचिस्‍तिका


पहेली: सोने का हार, खाने की बार, बताओ क्या है वो जो सबसे पहले अगर्बत्ती बुझाता है।

उत्तर: बुद्धि


पहेली: बहुत से लोगों के लिए यह काम करता है, रात्रि में जागता है, और दिन में सोता है। क्या है यह?

उत्तर: उल्लू


पहेली: गोल गोल निकला भूखा, खा गया सारा संसार।

उत्तर: चुल्लू


पहेली: एक पेड़ है, जिसमें सब्जियां नहीं होती, और एक पेड़ है जिसमें पत्तियां नहीं होती।

उत्तर: पुस्तक


पहेली: एक ऐसी चीज़ है जिसे देखते ही तुम्हारा पेट भर जाता है, लेकिन खाते ही भूख बढ़ जाती है।

उत्तर: दाँत


पहेली: एक जादुई दवाई है, जिसे खाने के बाद भूख नहीं लगती है।

उत्तर: नींबू


पहेली: एक बुजुर्ग व्यक्ति था, जो हमेशा अंधेरे में जाता था और चाबी ढूँढता रहता था। लोग उसे पागल समझते थे, लेकिन एक दिन लोगों ने उसकी मदद से चाबी खोजी और जाना उसका रहस्य क्या था?

उत्तर: वह दिन में काम करता था, रात में सो जाता था, और अंधेरे में जाने से पहले चाबी ढूँढ लेता था। चाबी का रहस्य था कि वह दरवाजे की चाबी ढूँढ रहा था, जिससे वह अंधेरे में जाते समय रास्ता ढूँढ सके।


पहेली: एक छोटे से गाँव में एक लोहे का दरवाजा था, जिसमें एक लाल चाबी थी। दरवाजे के ऊपर एक संतरा लिखा था, “संतरा खा जाएंगे”। लोगों को संतरे की तलाश थी, लेकिन उन्हें नहीं मिला। अब बताओ, संतरा कहाँ था?

उत्तर: संतरे की तलाश दरवाजे पर थी, और “संतरा खा जाएंगे” का मतलब था कि संतरे की जगह खुलेगी तो सभी खा जाएंगे।


पहेली: एक आदमी एक खोज में था, उसने एक बोतल में सीख देखी। बोतल पर एक लाइन लिखी थी, “अगर आप मुझे खोल लेते हैं, तो मैं आपकी सम्भाल लूंगा”। बताओ, बोतल की लाइन का क्या रहस्य था?

उत्तर: बोतल की लाइन का रहस्य था कि वह एक विचार है, जिसका मतलब है कि जब हम अपने अंदर के जीवन को खोलते हैं, तो हमें अपनी सम्भाल करनी चाहिए।


पहेली: एक जंगल में एक बड़ा पेड़ था, उस पेड़ के नीचे एक चादर लटकी थी। चादर पर लिखा था, “अगर तुम्हें समझ आ जाए तो बताना, फिर तुम्हें चादर मिलेगी”। बताओ, चादर का रहस्य क्या था?

उत्तर: चादर का रहस्य था कि जंगल में वह एक संतरा था, जिसका रंग और चादर का रंग एक समान था। जब कोई चादर को समझ लेता, तो संतरा उसे दे देता था।


पहेली: एक गाँव में एक भूखे शेर की तलाश थी, लेकिन उसे नहीं मिला। आखिरकार, उसने एक टोकरी खोजी और उसमें सब्जियां निकालकर खा ली। बताओ, टोकरी का रहस्य क्या था?

उत्तर: टोकरी का रहस्य था कि उसमें सब्जियां थीं, जिससे भूखा शेर अपनी भूख शांत कर सकता था।


पहेली: एक बार एक बूढ़ा आदमी ने अपने घर के सभी पिंजरे का दरवाजा बंद कर दिया। उसने उन्हें बंद किया क्योंकि वह चाहता था कि उसके पास कुछ ही पक्षियों का साथ हो। उत्तर क्या है?

उत्तर: बूढ़े आदमी के पास केवल कबूतर थे।


पहेली: एक समुद्र के किनारे एक पेड़ था। उस पेड़ पर पेड़ के कई पत्ते थे। कोई भी पत्ता उस पेड़ की तरफ नहीं जाता था। इसका कारण क्या था?

उत्तर: क्योंकि वह पेड़ झूला बना हुआ था।


पहेली: एक घर में दादाजी, दादीमाँ, पिताजी, माँ, बेटा और बेटी रहते थे। पर घर के अंदर सिर्फ 3 बेड थे। फिर भी सभी को सुबह की नींद पूरी मिल जाती थी। यह कैसे संभव है?

उत्तर: क्योंकि वे जानवर हैं।


पहेली: एक चोरी के जगह एक लड़का गया। वह एक कंधे पर एक थैला ले कर गया था। उसका कहना था कि उसने बच्चे को सुलाने के लिए थैले में घंटी बंद करके रखी थी। फिर भी उसे जेल जाना पड़ा। क्यों?

उत्तर: क्योंकि वह ठीक से जवाब नहीं दे पाया कि गंगानगर नगर में एक बच्चा जिनका घर नंबर अठारह है

इसे पढ़ें

Animal Paheliyan In Hindi With Answer

35+ Amazing Paheliyan In Hindi

नीचे कमेंट करके हमें बताएं कि आपको ये फनी पहेलियाँ, हँसाने वाली पहेलियाँ और हँसाने वाली पहेलियाँ इन हिंदी के साथ क्या लगा।

सत्यम राज Paheliyan.in में मुख्य संपादक के रूप में कार्यरत हैं, सत्यम को लेखन के क्षेत्र में 3 वर्षों से अधिक का अनुभव है। सत्यम ने हिंदी और संस्कृत में M.A किया। सत्यम Paheliyan.in में प्रकाशित किये जानें वाले सभी लेखों का निरीक्षण और विषयों का विश्लेषण से सम्बंधित कार्य करते हैं। और Paheliyan.in की संपादक, लेखक और ग्राफिक डिजाइनर की टीम का नेतृत्व करते हैं।

Leave a Comment