25+ Paheliyan In Hindi Answer Ke Sath

इस ब्लॉग पोस्ट में हम Paheliyan In Hindi Answer Ke Sath के बारे में चर्चा करेंगे, जिनका उत्तर साथ में होता है। पहेलियाँ हमारे जीवन का महत्वपूर्ण हिस्सा हैं जो हमें मनोरंजन के साथ-साथ नए सोचने का भी मौका देती हैं। ये विभिन्न प्रकार की होती हैं जैसे कि मजेदार, चुटकुलेदार, या फिर ज्ञानवर्धक।

एक बहुत ही मनोरंजक क्षेत्र है, जिसमें विभिन्न आयाम होते हैं। इनमें से कुछ पहेलियाँ बच्चों के लिए होती हैं, जो उन्हें सोचने और सीखने का अवसर प्रदान करती हैं, तो कुछ ऐसी होती हैं जिन्हें हल करने के लिए बड़े होना जरुरी होता है।

इन पहेलियों के जवाब देना हमारी सोचने की क्षमता को मजबूत करता है और हमें नई चुनौतियों का सामना करने की क्षमता प्रदान करता है। इसलिए, पहेलियों का मनोरंजन करने के साथ-साथ उनका हल ढूंढना भी हमारे लिए एक महत्वपूर्ण शिक्षाग्रंथ होता है।

Paheliyan In Hindi Answer Ke Sath

पहेली: दो बच्चे का जन्म एक ही दिन हुआ। फिर भी वे भाई बहन कैसे हो सकते हैं?

उत्तर: वे तीनलिंग हैं, यानी एक दिन में तीन बच्चे जन्मे।

पहेली: कोन सी चीज़ है जो ख़ुशबू देती है पर दिखाई नहीं देती?

उत्तर: गुलाब का फूल।

पहेली: एक गाव में 10 घर थे। उनमें हर घर में 7 बच्चे थे। हर बच्चे 10 गाय पालते थे। फिर कुल गायों की संख्या क्या होगी?

उत्तर: एक ही गाय, क्योंकि यह गाँव में ही है।

पहेली: एक जंगल में एक सिंगल पेड़ था, उस पे जितने पक्षी हैं उतने पक्षीयों के बच्चे हैं। तो उस पेड़ पर कितने पक्षी थे?

उत्तर: एक

पहेली: एक आदमी गुजर रहा था, उसने एक बिल्ली, एक कुत्ता और एक गाय देखे। उसने बिल्ली का नाम क्या रखा?

उत्तर: उसने अपना नाम बिल्ली रखा था।

पहेली: एक अंधा और एक बहरा अपस में कैसे मिल सकते हैं?

उत्तर: अंधे की बहराई और बहरे की अंधाई में।

पहेली: एक लाल रंग की बिल्ली सड़क से एक नीले रंग की सड़क क्यों पार करती है?

उत्तर: क्योंकि यह बिल्ली एक सिंघ थी।

पहेली: वो कौन सा जानवर है जिसके पाँव नहीं होते?

उत्तर: जांघल में चले।

पहेली: एक पुरानी लकड़ी के डिब्बे में एक तराजू था, जिस पर लिखा था, ‘आत्मा का वजन’। लेकिन तराजू की तोरन दरवाज़े क्यों खुलती नहीं थी?

उत्तर: क्योंकि लिखा था ‘आत्मा का वजन’, और आत्मा तो वजन का नहीं होती।

पहेली: एक आदमी अपने घर के बिलकुल सामने अपनी बेटी की दहेज़ के लिए कह रहा था। कैसे?

उत्तर: उसकी बेटी वहाँ बैठी थी, और उसने उसे दहेज़ की बात कही थी।

ALSO READ;

25 Funny Hard Paheli With Answer

30+ Paheli Funny Questions In Hindi With Answer 

Majedar Paheliyan In Hindi Answer Ke Sath

पहेली: वो कौन सा फल है जिसे उल्टा रखने पर भी उसका नाम उसी फल का देता है?

उत्तर: अंगूर, जब भी उसे उल्टा किया जाता है, तो उसका नाम ‘रोगन’ होता है।

पहेली: जो चीज़ हमेशा से सफेद होती है, लेकिन कभी सफेद नहीं रहती, वो कौन सी है?

उत्तर: उड़ान, जो हमेशा से स

फेद होती है, लेकिन कभी सफेद नहीं रहती।

पहेली: जो चीज़ हमेशा गिरने के बाद भी नहीं टूटती, वो क्या है?

उत्तर: पानी

पहेली: जो चीज़ दीवार के पार से गुजर सकती है, पर नीचे नहीं गिर सकती, वो क्या है?

उत्तर: छाया

पहेली: वो क्या है जो सबसे ज्यादा साफ़ जगह पर भी भगवान के दरबार में गंगा जैसी गंदगी भर जाती है?

उत्तर: ज़ुबान

Easy Paheliyan In Hindi Answer Ke Sath

पहेली: काला हूँ, पर धूप में रहता हूँ, जंगल में चलता हूँ, बसेरा बनाता हूँ। कौन हूँ मैं?

उत्तर: कारवां

पहेली: गेंद जैसी गोल, ख़िलौना सब का पसंद।

उत्तर: मर्बल्स

पहेली: स्वर्ग का द्वार खुल जाए, जब धरती पर यह गिर जाए।

उत्तर: बारिश

पहेली: कमरे के भीतर, कमरे के बाहर, चाबी बिना तलाश निकलती है।

उत्तर: आवाज़

पहेली: सफेद चादर में हूँ, जल जाऊँ तो बोलो, क्या हूँ?

उत्तर: दूध

पहेली: छोटा सा कुत्ता, खेलता बड़ी खिलौने से।

उत्तर: टमाटर

पहेली: एक जंगल में एक बड़ी पेड़ी थी, उस पेड़ी के ऊपर एक परिंदा बसा था, वो परिंदा क्या था?

उत्तर: एक कोयल

पहेली: चलती है दीवार से दीवार, पसीने से भीग जाती है, दौड़ती है तेज़ रफ्तार, बस बैठी है जाम से बाहर।

उत्तर: घड़ी

Difficult Paheliyan In Hindi Answer Ke Sath

पहेली: एक पहिए वाली चीज़ है, लेकिन उसमें टायर नहीं है।

उत्तर: गाड़ी का स्टीयरिंग

पहेली: चोटी वाली जगह से निकलती है बुरी आवाज़, सुन लो जरा, कौन सी है ये चीज़?

उत्तर: नकाब

पहेली: एक पौधे की जड़ हूँ, सारी रात गलाती खाती हूँ।

उत्तर: जरा

पहेली: सड़क पर चलता है, रोज़ एक नया रंग पहनता है।

उत्तर: पेंशिल

पहेली: एक पानी की बूँद, सब कुछ साफ़ कर जाए।

उत्तर: चेहरा

पहेली: जिसकी दाढ़ी में टिका है ख़र्राटा, सुबह उठते ही देता बाराता।

उत्तर: काला

पहेली: जिसकी दाढ़ी में टिका है ख़र्राटा, सुबह उठते ही देता बाराता।

उत्तर: काला

Dimagi Paheliyan In Hindi Answer Ke Sath

पहेली: उसकी तीन पैर हैं, और वो सिर्फ एक कान सुनता है।

उत्तर: ताल

पहेली: गोल धरती पर, काला अँधेरा।

उत्तर: चक्रवात

पहेली: चलता हूँ जब मैं, साथ चलती है धूप।

उत्तर: घास

पहेली: बूँद बूँद समंदर में, भूले तुम कितनी बार।

उत्तर: प्यास

पहेली: एक पत्थर की दुनिया, बसा है वहाँ बेघर।

उत्तर: कब्र

पहेली: बेटी का गाना, मिले चाँद से भी सुंदर।

उत्तर: बुलबुल

पहेली: छोटा बच्चा, प्याला उसका।

उत्तर: चाँद

पहेली: लाखों फूल उसके सिर पर, फिर भी खिलता नहीं।

उत्तर: मुर्ग़ा

पहेली: उसकी गर्दन में सोना, दो पंख उसके पैर।

उत्तर: मोर

पहेली: बिना दांत का भालू, अधिकारी का दरबार।

उत्तर: तितली

पहेली: एक पानी की बूंद, एक जीवन की मिसाल।

उत्तर: अँधियारा

पहेली: खिल जाता है सुबह, मर जाता है शाम।

उत्तर: दीपक

पहेली: देखता हूँ सभी को, पर देखा नहीं किसी को।

उत्तर: आईना

पहेली: जो आता है सबके लिए, लेकिन जाता है किसी के लिए नहीं।

उत्तर: दिन

Bacho ki Paheliyan In Hindi Answer Ke Sath

पहेली: जलती है जब सभी, बुझता है कोई नहीं।

उत्तर: सूर्य

पहेली: उसके पेट में आग, सिर पर ताज।

उत्तर: समुंदर

पहेली: जलते हैं जब सबके, बुझते हैं कुछ ही।

उत्तर: चिराग

पहेली: बहुत सारे होते हैं इसके सिर, पर बिल्कुल नहीं है दांत।

उत्तर: कमल

पहेली: पेड़ का राजा, फूलों की रानी।

उत्तर: मोर

पहेली: जिसकी धुप में जीना है, उसे इसका संगीत सुनना है।

उत्तर: पेड़

पहेली: गुंजने लगता है, जब यह पक्षी आता है।

उत्तर: मधुमक्खी

पहेली: जो बड़ा होकर भी बच्चों की तरह नाचता है।

उत्तर: पेड़

पहेली: जिसका घर है पर पता नहीं, उसका नाम बताओ?

उत्तर: आकाश

पहेली: जल में रहता है, पर जल का कोई असर नहीं पड़ता।

उत्तर: कमल

पहेली: जिसकी नगरी, तीन समुंदर पर बसी है।

उत्तर: भारत

पहेली: गेंद जैसा है, पर उसकी ध्वनि अलग है।

उत्तर: बिलियार्ड्स

पहेली: जिसे जलाकर भी नहीं देखा जा सकता।

उत्तर: आसमान

पहेली: जिसके पास सिर्फ एक आँख है।

उत्तर: नींद

पहेली: जो सब कुछ जानती है, पर बोलती नहीं।

उत्तर: किताब

Conclusion

इस ब्लॉग पोस्ट में हमने देखा कि पहेलियाँ हमारे लिए कितनी महत्वपूर्ण हैं और हमें कितने सिखाती हैं। हमने यह भी देखा कि ये हमें कितनी मनोरंजनात्मक मिलती हैं और हमें कितनी चुनौतियों का सामना करने की क्षमता प्रदान करती हैं। इसलिए, हमें इन पहेलियों का सम्मान करना चाहिए और इन्हें हमारे जीवन का महत्वपूर्ण हिस्सा मानना चाहिए।

सत्यम राज Paheliyan.in में मुख्य संपादक के रूप में कार्यरत हैं, सत्यम को लेखन के क्षेत्र में 3 वर्षों से अधिक का अनुभव है। सत्यम ने हिंदी और संस्कृत में M.A किया। सत्यम Paheliyan.in में प्रकाशित किये जानें वाले सभी लेखों का निरीक्षण और विषयों का विश्लेषण से सम्बंधित कार्य करते हैं। और Paheliyan.in की संपादक, लेखक और ग्राफिक डिजाइनर की टीम का नेतृत्व करते हैं।

Leave a Comment