सरल पहेलियाँ उत्तर सहित | Bacchon Ki Paheliyan

Bacchon Ki Paheliyan : एक रोचक माध्यम हैं जो उन्हें मनोरंजन के साथ-साथ सोचने की क्षमता भी देती हैं। ये पहेलियाँ उनकी दिमागी क्षमता को बढ़ाने में मदद करती हैं और उनके लिए एक सर्वोत्तम शैक्षिक और मनोरंजन स्रोत के रूप में कार्य करती हैं। बच्चों के लिए पहेलियों का महत्व इसलिए अधिक है क्योंकि ये उनकी सोचने की क्षमता, तर्क और समस्या समाधान की क्षमता को विकसित करती हैं।

Bacchon Ki Paheliyan

पहेली संख्या: 1

पहेली: एक गाव में एक बारात गई, सबने किया स्वागत, पर एक भीखारी ने नहीं देखा। बताओ, ऐसा क्यों हुआ?

उत्तर: बारात गई, भीखारी नहीं देखा क्योंकि सभी विवाहित थे।

पहेली संख्या: 2

पहेली: एक पेड़ था, उस पेड़ पर दस पक्षी बैठे थे, हर पक्षी के पास छ: अंग हैं। बताओ, कितने टोंगे हैं?

उत्तर: ग्यारह टोंगे हैं।

पहेली संख्या: 3

पहेली: एक गाय के तीन बच्चे थे, उनके नाम गाय, गायन और गई। तीनों के नाम मिलाकर क्या बनता है?

उत्तर: गायब।

पहेली संख्या: 4

पहेली: एक चोर एक होटल में गया, और सोचा कि मैं बहुत सारी वस्तुएँ चुरा सकता हूँ। पर उसने क्या चुराया?

उत्तर: चोर ने चुराया समय।

पहेली संख्या: 5

पहेली: एक घर में चार कमरे हैं, पहले कमरे में लाल रंग की दीवारें हैं, दूसरे कमरे में हरे रंग की दीवारें हैं, तीसरे कमरे में नीले रंग की दीवारें हैं, और चौथे कमरे में पीले रंग की दीवारें हैं। बताओ, किस कमरे में बंदर रहेगा?

उत्तर: बंदर तो उसी कमरे में रहेगा जिसमें उसके आंखों का रंग होता है, यानी कहीं पर नहीं रहेगा।

Bacchon Ke Liye Paheliyan

पहेली संख्या: 6

पहेली: एक चोरी हो रही थी, एक व्यक्ति ने पकड़ लिया, उस व्यक्ति को देखकर चोर कहाँ गया?

उत्तर: चोर अंधेरे में गया था।

पहेली संख्या: 7

पहेली: एक स्कूल में पढ़ने वाले बच्चे थे, एक दिन स्कूल जाने के लिए तैयार होकर बाहर निकले, पर स्कूल नहीं जा सके। बताओ, ऐसा क्यों हुआ?

उत्तर: स्कूल छुट्टी में था।

पहेली संख्या: 8

पहेली: एक अमीर आदमी ने एक गरीब को एक सोने की चाबी दी, जो उसके दरबार के बाहर था। गरीब ने चाबी खोलकर देखा, पर कुछ नहीं मिला। फिर भी वह खुश हो गया। बताओ, ऐसा क्यों हुआ?

उत्तर: चाबी से वह खुश नहीं हुआ, बल्कि चाबी से उसने अपनी जेब की चाबी निकाली।

पहेली संख्या: 9

पहेली: एक आदमी के पास तीन पेंच थे, एक दिन उसने एक पेंच खो दिया। बताओ, उसके पास अब कितने पेंच थे?

उत्तर: दो पेंच थे।

पहेली संख्या: 10

पहेली: एक बुढ़िया थी, उसने अपनी पेटी में एक अजीब सी चीज़ रखी थी, जो उसने कभी खाई नहीं और न ही उसने बेची। बताओ, वह चीज़ क्या थी?

उत्तर: एक अंगूठी थी।

पहेली संख्या: 11

पहेली: एक जंगल में एक खूबसूरत झील थी, उस झील में पानी के अंदर एक बिजली विद्युत का तार था। बताओ, क्यों झील के पानी में बिजली का तार था?

उत्तर: क्योंकि वह झील वाटर पावर जेनरेटर थी।

पहेली संख्या: 12

पहेली: एक घर में चार कमरे थे, पहले कमरे में एक सिंह बैठा था, दूसरे कमरे में एक तेनालीराम बैठा था, तीसरे कमरे में एक तेल का दीया जल रहा था, और चौथे कमरे में एक तलवार लटकी हुई थी। बताओ, कौनसा कमरा सबसे सुरक्षित था?

उत्तर: तेल के दीये का कमरा सबसे सुरक्षित था, क्योंकि वह कमरा आगे है और तेल की वजह से अगर सिंह और तलवार का कमरा आगे भी आ जाए, तो उन्हें तेल के दीये से जलकर रोका जा सकता है।

निष्कर्ष

इस लेख में हमने देखा कि बच्चों के लिए पहेलियाँ कितनी महत्वपूर्ण होती हैं। ये न केवल उनके मनोरंजन का स्रोत होती हैं, बल्कि उनकी सोचने की क्षमता को भी विकसित करती हैं। बच्चों को पहेलियों के माध्यम से नए-नए विचार और समस्याओं का सामना करने की क्षमता मिलती है, जिससे उनका मानसिक विकास होता है। इसलिए, हमें इसे बच्चों के विकास में एक महत्वपूर्ण भूमिका के रूप में देखना चाहिए और बच्चों को इन पहेलियों का आनंद लेने देना चाहिए।

सत्यम राज Paheliyan.in में मुख्य संपादक के रूप में कार्यरत हैं, सत्यम को लेखन के क्षेत्र में 3 वर्षों से अधिक का अनुभव है। सत्यम ने हिंदी और संस्कृत में M.A किया। सत्यम Paheliyan.in में प्रकाशित किये जानें वाले सभी लेखों का निरीक्षण और विषयों का विश्लेषण से सम्बंधित कार्य करते हैं। और Paheliyan.in की संपादक, लेखक और ग्राफिक डिजाइनर की टीम का नेतृत्व करते हैं।

Leave a Comment